आओ जरा रुबिका लियाकत के बारे में चर्चा करें …..

जब से रुबिका लियाकत ने प्रियंका रेड्डी मर्डर केस पर डिबेट की है । इमोसन्नाल चेहरा दुख से भरा हुआ और आँखों से आँसू निकलते हुए वो बलात्कारियो की सजा की मांग करती है । और साथ साथ ये भी कहती है कि कब तक आप मंदिर और मस्जिद के नाम पर लड़ते रहेंगे । आप प्रज्ञा ठाकुर के नाम पर लड़ेंगे । आप हिन्दू मुस्लिम के नाम पर लड़ेंगेलेकिन सच्चाई ये है कि रुबिका लियाकत ने अपने टीवी कार्यक्रम में महिला सुरक्षा को लेकर एक भी डिबेट नही की । हालांकि प्रधानमंत्री का इंटरव्यू भी लिया परंतु महिला सुरक्षा को कोई सवाल नही किया लेकिन ये सवाल जरूर किया था कि आप आम कैसे खाते हो संतरा कैसे खाते हो केला कैसे खाते हो कि बचपन मे मगरमच्छ आपके दोस्त थे और तमाम तरीके के वाहियात सवाल हुए थे लेकिन महिला सुरक्षा और शिक्षा को लेकर रुबिका लियाकत ने कोई सवाल नही कियाहम ये नही कहते कि उनका रोना ढोंग है इंसान इमोशनल हो जाता है तो आँसू निकल आते है हर किसी के आँसू निकल आएंगे जब किसी के साथ बलात्कार करने के बाद उसे जिंदा जलाया जाएलेकिन ये आँसू तब कहाँ थे रुबिका लियाकत जब उन्नाव रेप केस पीड़ित और वकील पर एक्सीडेंट कराया गया तब कहाँ थे आपके घड़ियाली आंसू । जब चिन्मयनद केस में पीड़िता ने शिकायत की तो उल्टा उसी लड़की को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया फिरौती मागने के आरोप में तब ये घड़ियाली आँसू कहाँ थेजब कठुआ में 9 साल की बच्ची के साथ रेप हुआ तब ये घड़ियाली आँसू कहाँ थे रुबिका लियाकत जीजब चोरी के शक में या जानवरों की बजह से लोगो की जाने गयी तो तब ये घड़ियाली आँसू कहाँ थेपाठको होशियार रहो अब न्यूज़ के साथ साथ नॉटंकी भी शुरू हो गयी है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here